8th Pay Commission : कर्मचारियों को मिली डबल खुशखबरी 8वां वेतन आयोग को सरकार ने दिखाया हरी झंडी इस दिन देश भर में होगा लागु।

8th Pay Commission : केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है. चर्चा है कि 8वें वेतन आयोग पर बातचीत आगे बढ़ रही है. अगर 8वां वेतन आयोग लागू होता है तो केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी में जोरदार उछाल आएगा. 7वें वेतन आयोग के मुताबिक कर्मचारियों की बेसिक सैलरी 18,000 रुपये है. वेतन निर्धारण में शारीरिक फिटनेस कारक बड़ी भूमिका निभाता है। संशोधित मूल वेतन की गणना समायोजन कारक के आधार पर पुराने मूल वेतन से की जाती है। कमीशन भुगतान रिपोर्ट में मिलान अनुपात एक महत्वपूर्ण अनुशंसा है।

8th Pay Commission
8th Pay Commission

इस प्रकार, न्यूनतम मूल वेतन में वृद्धि होगी

7वें वेतन आयोग की सिफारिशों में एडजस्टमेंट फैक्टर 2.57 गुना के स्तर पर रखा गया है. इसी आधार पर केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन में संशोधन किया गया. आंकड़ों पर नजर डालें तो 7वें वेतन आयोग में सबसे कम वेतन बढ़ोतरी की गई थी। हालांकि, मूल वेतन बढ़ाकर 18,000 रुपये कर दिया गया है. चर्चा है कि 8वें वेतन आयोग में अनुपालन अनुपात 3.68 गुना तक बढ़ाया जा सकता है. ऐसे में न्यूनतम वेतन 18,000 से बढ़कर 26,000 रुपये हो सकता है.

आपको आयोग में वेतन वृद्धि कब मिली?

चौथे आयोग के पत्राचार का गुणांक

वेतन वृद्धि: 27.6%
न्यूनतम वेतन: 750 रुपये

5वें आयोग के पत्राचार का गुणांक 

वेतन वृद्धि: 31%
न्यूनतम वेतन: 2550 रुपये

छठे आयोग का पत्राचार गुणांक

लैंडिंग फैक्टर: 1.86 गुना
वेतन वृद्धि: 54%
न्यूनतम वेतन: 7000 रूबल

आयोग के अनुपालन का 7वाँ गुणांक

लैंडिंग फैक्टर: 2.57 गुना
वेतन वृद्धि: 14.29%
न्यूनतम वेतन: INR 18,000

आयोग के अनुपालन का 8वाँ गुणांक

उपयुक्तता कारक:?
वेतन भत्ता:?
न्यूनतम आय:?

क्या आठवां वेतन आयोग आएगा?

सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या 8वीं सैलरी का कमीशन आएगा या नहीं? इसे लेकर दो अलग-अलग बहसें हैं. सरकारी सूत्रों की मानें तो सरकार अब अगले वेतन आयोग पर विचार नहीं करेगी. वहीं, विशेषज्ञों का मानना ​​है कि ऐसा नहीं किया जा सकता. अब सिस्टम बन गया है. इस व्यवस्था को अचानक समाप्त नहीं किया जा सकता. दूसरा बड़ा कारण यह है कि 8वां पेमेंट कमीशन आने में अभी समय है. कमीशन के अगले भुगतान का शेड्यूल 1 जनवरी, 2026 से लागू हो सकता है। ऐसे में अभी काफी समय है.

पेमेंट मैट्रिक्स के हिसाब से कितनी बढ़ेगी सैलरी?

वेतनमान मैट्रिक्स (वेतन मैट्रिक्स) 1: केंद्रीय कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 26,000/- रुपये से शुरू हो सकता है। इस क्रम में वेतन बढ़कर पे मैट्रिक्स के लेवल 18 तक पहुंच जाएगा. वेतन आयोग के चलन पर नजर डालें तो यह हर 8-10 साल में लागू होता है। इस बार यह भी कहा गया है कि इसे 1 जनवरी 2026 को लागू किया जाएगा.

Leave a Comment

error: Content is protected !!